श्री ब्रह्मानंद छात्र सदन संघर्ष समिति के बैनर तले श्रीछःन्याति ब्राह्मण समाज जमीन के सामने आमरण अनशन आज पांचवें दिन भी जारी रहा। आमरण अनशन के पांचवें दिन समाजसेवी के के शर्मा को श्रीछःन्याति ब्राह्मण समाज के युवाओं द्वारा आन्दोलन में पुर्ण समर्थन देते हुए आमरण अनशन पर बैठे। आमरण अनशन पर रामनिवास खांतडिया, मनोज जोशी रायसर, शुभकरण तावनियां सारोठिया तथा कैलाश पारीक नोखा बैठ गये।
 
श्री ब्रह्मानंद छात्र सदन बनाने के लिए सारस्वत महासभा युवा प्रकोष्ठ जिलाध्यक्ष भगवानदेव सारस्वत, देवेन्द्र भारद्वाज, भाजयुमो नरेश सारस्वत, शेरेरां सरपंच परमेश्वर सारस्वत, बीकानेर पार्षद भगवती प्रसाद गौड़, संरक्षक सदस्य सागरमल सारस्वत खारड़ा, संरक्षक सदस्य श्यामसुंदर तावनियां, प्रदीप उपाध्याय, तनुज सारस्वत, रविन्द्र जाजड़ा, रघुवीर उपाध्याय, पुखराज पाईवाल, मनोज सारस्वत खारड़ा, शांतिलाल शर्मा, रामकिशन मोट, श्रवण कायल, तोलाराम उपाध्याय, हंसराज सारस्वत, सूनील आसोपा, देवीलाल सारस्वत, गुलाब भारद्वाज, पवन तावनियां दीपसर, राजकुमार सारस्वत बेरासर, मोहनलाल तावनियां तथा अजय मुद्गल सहित 25 सदस्यों द्वारा पुर्ण समर्थन प्रदान करते हुए धरने पर बैठे तथा समाज की जमीन से तुरन्त व्यवसायिक गतिविधि एवं अतिक्रमण निर्माण को हटाये जाने की मांग को जायज ठहराया है।
लगातार पांच दिनों से आमरण अनशन और अनिश्चित कालीन क्रमिक धरने पर बैठे ब्राह्मण समाज के गणमान्य लोगों से बातचीत के जरिए समस्या का हल निकालने के लिए किसी भी प्रकार से प्रयास नहीं करने पर धरनार्थियों द्वारा श्रीछःन्याति ब्राह्मण महासंघ अध्यक्ष डॉ मोहनलाल जाजड़ा और उनकी कार्यकारिणी की हठधर्मिता पर गंभीर आक्रोश व्यक्त किया गया है। जबकि आमरण अनशन पर बैठे समाजसेवी के के शर्मा की तबियत लगातार बिगड़ रही है।
 
गौर तलब है कि श्रीछःन्याति ब्राह्मण महासंघ को सवा लाख वर्ग गज जमीन भामाशाह ब्रह्मानंद भनोत सारस्वत द्वारा समाज के शैक्षणिक योग्यता बढ़ाने के लिए प्रयासरत बच्चों के लिए छात्रावास बनाने के लिए दान की थी परन्तु भुमिदान करने के तैयालिस वर्ष बाद भी छात्रावास का निर्माण नहीं किया जा सका है।
संघर्ष समिति सदस्य देवेन्द्र भारद्वाज ने बताया कि संघर्ष समिति का प्रतिनिधि मंडल जिला कलेक्टर, पुलिस अधीक्षक तथा युआईटी सचिव से मिलकर ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में समाज की भुमि को अतिक्रमण से बचाने, बिना अनुमति किये जा रहे अवैध निर्माण को रोकने, अनजान लैबर का पुलिस वैरिफिकेशन करवाने तथा अनशनकर्ता के के शर्मा द्वारा किये जा रहे शांतिः पुर्ण अनशन एवं धरने को सुरक्षा प्रदान करने के लिए मांग की गई है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here