Send Your NewsMail your news and articles at theindiapost@gmail.com

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का 350वां प्रकाश पर्व पर पंजाबी मे भाषण शुरू किया

पूरी दुनिया में सिखों के दसवें गुरु गुरु गोविंद सिंह जी महाराज का 350वां प्रकाश पर्व मनाया जा रहा है । विश्व में सिखों के दूसरे बड़े तख्त और गुरु गोविंद सिंह के जन्मस्थल पटना साहिब में इस मौके पर खास कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं ।

आजाद भारत में दूसरी बार पटना साहिब प्रकाशोत्सव की अलौकिक छटा से रोशन हो रहा है। पटना के गांधी मैदान में आयोजित इस पर्व के समापन समारोह में हिस्सा लेने पहुंचे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी। पीएम मोदी ने इस अवसर पर प्रकाश पर्व में शामिल होकर मत्था टेका। गुरु गोविंद सिंह को त्याग की प्रतिमूर्ति बताते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि गुरुग्रंथ साहिब का हर शब्द हमें प्रेरणा देता है।

उनकी वीरता को याद करते हुए प्रधानमंत्री ने कहा कि गोविंद सिंह का समाज को एकता के सूत्र में बांधने का प्रयास अद्भुत था। पीएम ने कहा पंच प्यारे की व्यवस्था को गुरू गोविंद ने खुद पर भी लागू किया जो यह दिखाता है कि वो परंपरा में विश्वास रखते हैं।

इस मौके पर पीएम मोदी ने बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की जमकर तारीफ की। उन्होंने नशे से मुक्ति और आने वाली पीढ़ी को बुराईयों से बचाने के लिए बिहार के मुख्यमंत्री के प्रयास की सराहना करते हुए उन्हें इस काम में कामयाब होने की शुभकामनाएं भी दी।

समागम में बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, पंजाब के सीएम प्रकाश सिंह बादल और केंद्रीय मंत्री रविशंकर प्रसाद भी मौजूद थे। इस मौके पर प्रधानमंत्री ने एक डाक टिकट भी जारी किया। साथ ही पीएम को गुरु गोविंद सिंह जी की एक भव्य फोटो भी दी गयी।

इस मौके पर बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने कहा कि बिहार में सिख गुरूओं से जुड़े हुए कई गुरुद्वारे है ऐसे में तीर्थ यात्रियों की सुविधा के लिए बिहार में एक गुरू सर्किट बनाया जायेगा। 350वें प्रकाशोत्सव को लेकर पटना का माहौल पूरी तरह भक्तिमय है। पटना सिटी स्थित तख्तश्री हरिमंदिर साहिब में दर्शन और मत्था टेकने के लिए श्रद्धालुओं का तांता लगा हुआ है। गांधी मैदान में बनाये गये गुरुद्वारे में लाखों की संख्या में श्रद्धालु दर्शन के लिए उमड़ रहे हैं। वहीं देश के तमाम हिस्सो में भी प्रकाश पर्व मनाया जा रहा है।

बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राजधानी दिल्ली में शीशगंज गुरूद्वारे में जाकर मत्था टेका और प्रार्थना की। पंजाब के आनंदपुर साहिब में भी गुरु गोबिंद सिंह जी 350 प्रकाश पर्व को भव्य तरीके से मनाया जा रहा है। एसजीपीसी की तरफ से श्री अकाल तख्त साहिब को भी सजाया गया है।

विक्रम संवत के पौष सुदी सप्तमी वर्ष 1666 की रात पटना में माता गुजरी ने एक पुत्र को जन्म दिया। पिता गुरु तेग बहादुर के सुझाव पर पुत्र का नाम गोविंद राय रखा गया जो बाद में गुरु गोविंद सिंह के नाम से प्रसिद्ध हुये। गुरु गोविंद सिंह जी के बचपन के सात वर्ष पटना साहिब में गुजरे थे। अपने नन्हें पैरों की अमिट छाप छोड उन्होनें इस धरती को पावन किया।

Leave a Reply